मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. कप्तान सिंह

भरतपुर जिले में 103 कोविड-19 संक्रमित मरीज हुए स्वस्थ- डाॅ. कप्तान सिंह

भरतपुर जिले में 103 कोविड-19 संक्रमित मरीज हुए स्वस्थ, अब 6 मरीज आरबीएम एवं 3 मरीज एसएमएस अस्पताल में भर्ती

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. कप्तान सिंह
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. कप्तान सिंह

भरतपुर, 4 मई। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. कप्तान सिंह ने बताया कि जिले में अब तक मिले 114 कोविड-19 संक्रमित मरीजों में से 103 मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं। इनमें से 95 मरीज जिला आरबीएम अस्पताल में भर्ती थे, जिन्हें उपचार के बाद दूसरी जांच रिपोर्ट नेगेटिव आने पर जिला आरबीएम अस्पताल से डिस्चार्ज कर क्वारेंटाइन सेंटर में शिफ्ट कर दिया है।

स्वस्थ हो चुके 8 मरीज एसएमएस अस्पताल जयपुर में भर्ती थे।

सीएमएचओ ने बताया है कि अब आरबीएम अस्पताल में 6 कोविड-19 संक्रमित मरीज भर्ती हैं जिनमें 3 मरीज बयाना निवासी हैं। अन्य तीन मरीजों में आगरा से बिलोंद पहुंची एक महिला एवं आगरा से ही जगरोटा मौहल्ला भरतपुर पहुंचे एक महिला व उसका पुत्र हैं। 3 संक्रमित रोगी एसएमएस अस्पताल जयपुर में भर्ती हैं।

कोरोना कर्मवीरों के इलाज से स्वस्थ हुए 27 में से 24 संक्रमित बच्चे

103 covid-19 infected patients become healthy in Bharatpur district, now 6 patients RBM and 3 patients admitted to SMS hospital
भरतपुर जिले में 103 कोविड-19 संक्रमित मरीज हुए स्वस्थ, अब 6 मरीज आरबीएम एवं 3 मरीज एसएमएस अस्पताल में भर्ती

राजकीय मेडिकल काॅलेज भरतपुर के शिशु रोग विभाग के विभागाध्यक्ष डाॅ. जगदीश सोलंकी ने बताया कि भरतपुर में भर्ती 27 कोरोना संक्रमित बच्चों में से 24 बच्चों को शिशु रोग विशेषज्ञों द्वारा सफलतापूर्वक इलाज कर स्वस्थ होने पर डिस्चार्ज कर दिया गया है। निरोगी हो चुके इन बच्चों को क्वारेंटाइन सेंटर में रखा गया है। जबकि बाकी 3 कोरोना पीडित बच्चों का इलाज जारी है।
डाॅ. सोलंकी ने बताया कि कोरोना पीडित बच्चों का इलाज उनके मार्गदर्शन में डाॅ. अभिषेक बंसल, डाॅ. हिमांशु गोयल, डाॅ. हरिमोहन द्वारा किया जा रहा है।  

राजकीय जनाना अस्पताल में चल रहे बाल रोग उपचार केन्द्र की ओपीडी में आईएलआई लक्षणों वाले बच्चों का भी इलाज किया जा रहा है। यहां प्रतिदिन लगभग 50 ऐसे शिशुओं का उपचार किया जा रहा है, तथा 15 बच्चे नर्सरी में भर्ती कर उपचाराधीन हैं। बाल रोग उपचार केन्द्र की ओपीडी में डाॅ. हर्षवर्धन विप्र, डाॅ. प्रकाश शर्मा एवं डाॅ. अंकुर अपनी सेवाएं दे रहे हैं।