Bharatpur: कलक्टर ने सरपंचों से की अपील, कोई भी गरीब भूखा नहीं सोए

Last Updated on by Sntv24samachar

Bharatpur: कलक्टर ने सरपंचों से की अपील, कोई भी गरीब भूखा नहीं सोए

  • गरीबों की मदद के लिए बढने लगे हाथ,
  • जिला कलक्टर ने सरपंचों से की अपील, कोई भी गरीब भूखा नहीं सोए
Bharatpur: कलक्टर ने सरपंचों से की अपील, कोई भी गरीब भूखा नहीं सोए
Bharatpur: कलक्टर ने सरपंचों से की अपील, कोई भी गरीब भूखा नहीं सोए

भरतपुर 26 मार्च। कोरोना वायरस संक्रमण के कारण लागू लाॅकडाउन में गरीबों को खाद्य सामग्री की अन्नपूर्णा किट देने में सहयोग करने के लिए जिलेभर में समाजसेवी भामाशाह आगे आये हंै। सीएम रिलीफ फण्ड के  कोविड-19 राहत कोष में लोग सहायता राशि जमा करवा रहे है। इधर जिला कलक्टर नथमल डिडेल ने सरपंचों से अपील की है कि उनकी पंचायत में किसी भी परिवार को दिहाड़ी, मजदूरी, कार्य नहीं मिलने के कारण खाद्य सामग्री का संकट नहीं होने दें।


जिला कलक्टर ने बुधवार को जिले के सभी सरपंचों को जारी अपील में कहा कि ऐसे गरीब परिवारों को पंचायत समिति स्तर पर चिन्हित करवाकर उन्हें ग्राम स्तर पर ही जनसहयोग के माध्यम से जरूरत के मुताबिक राशन सामग्री या भोजन उपलब्ध करवाने की जिम्मेदारी उठाये।


जिला प्रशासन द्वारा कोविड-19 महामारी को देखते हुए लॉक डाउन के दौरान जरूरतमंद परिवारों के लिए अन्नपूर्णा किट वितरित की जा रही हैै, जिसमें एक परिवार के लिए सर्वप्रथम 15 दिन के लिए खाद्य सामग्री रहेगी।


आर्थिक मदद और खाद्य सामग्री देने के लिए आगे आये भामाशाह


जिला शिक्षा अधिकारी प्रेम सिंह ने बताया कि भरतपुर आॅयल मिल एसोसियेशन द्वारा 300 राशन किट दी गई है। जिनमें 10 किलो आटा, एक किलो दाल, एक किलो नमक, एक किलो सरसों का तेल हैं। कृष्ण कुमार अग्रवाल एवं राधेश्याम गोयल ने एसोसियेशन की ओर से यह सहायता प्रदान की।


 नदबई प्रधान डिम्पल चौधरी ने कोविड-19 राहत कोष में एक लाख रूपये की सहायता चैक के माध्यम से दी है। लुपिन संस्था के अधिशाषी निदेशक सीताराम गुप्ता ने एक लाख रूपये, लोहागढ़ प्रेस क्लब की ओर से अध्यक्ष उमेश लवानियां ने 11 हजार रूपये, शिक्षाविद् रिखबचन्द मित्तल ने 21 हजार रूपये एवं शिक्षा विभाग के कार्मिकों की ओर से स्वेच्छा से लगभग 2 लाख रूपये का सहयोग कोरोना पीड़ितों की सहायतार्थ दी है।


रूपवास व रूदावल में क्वारेंटाइन में रखे गये बाहर से पलायन कर आये 78 महिला, पुरूष एवं बच्चों के लिए स्थानीय भामाशाहों तथा पंचायत समिति कार्यालय के कार्मिकों द्वारा भोजन, सेनेटाइजर एवं मास्क आदि की व्यवस्था की गई है।


जिला कलक्टर ने आमजन एवं  भामाशाहों से अपील की है कि आवश्यक सहयोग राशि देकर इस पुनीत कार्य में भागीदार बनें। सहयोग राशि सेक्रेटरी, यूआईटी भरतपुर के नाम आईसीआईआई बैंक खाता संख्या 685701701241 (आईएफएससी कोड- आईसीआईसी0006857) में ऑनलाइन जमा की जा सकती है। सचिव, नगर विकास न्यास, भरतपुर के नाम एकाउंट पेई चेक के माध्यम से भी सहयोग राशि  आईसीआईसीआई बैंक की नई मंडी शाखा में जमा करवाई जा सकती है। इस हेतु विस्तृत जानकारी के लिए जिला शिक्षा अधिकारी प्रेम सिंह (9414485241) एवं मास्टर आदित्येंद्र रा.उ.मा.वि. के प्रधानाचार्य दिनेश सिंह (9460268088) से सम्पर्क कर सकते हैं।