Bharatpur Top 10 News: Former Tourism Minister handed over check of 1 lakh rupees to District Collector

Bharatpur Top 10 News: पूर्व पर्यटन मंत्री ने 1 लाख रुपये का जिला कलक्टर को सौंपा चैक

Last Updated on by Sntv24samachar

Quick Navigation

Bharatpur Top 10 News: पूर्व पर्यटन मंत्री ने 1 लाख रुपये का जिला कलक्टर को सौंपा चैक

Bharatpur Top 10 News: Former Tourism Minister handed over check of 1 lakh rupees to District Collector
Bharatpur News: पूर्व पर्यटन मंत्री ने 1 लाख रुपये का जिला कलक्टर को सौंपा चैक

भरतपुर, 10 अप्रेल। कोरोना वायरस से बचाव के लिए पूर्व पर्यटन मंत्री कृष्णेन्द्र कौर “दीपा” ने जिला कलक्टर को 1 लाख रुपये का चैक सौंपा साथ ही प्रशासन द्वारा किए जा रहे कड़े इंतजामों के लिए भी प्रशासन की सराहना की तथा जनता से अपील की है कि आप सभी इस संकट की घड़ी में एकजुट होकर प्रशासन का साथ दें, इस वक्त घर में रहकर और सोशल डिस्टेन्सिंग से ही इस महामारी से बचाव किया जा सकता है

कफ्र्यू की सख्ती से करें पालना:- जिला कलक्टर

भरतपुर, 10 अप्रेल। जिला कलक्टर नथमल डिडेल ने कहा है कि जिले से अब तक 769 सैम्पल परीक्षण के लिये भिजवाये गये है।

जिनमें से 705 रिपोर्ट मिली है। अब तक 9 कोरोना वायरस संक्रमित रोगी जिले में मिले है, जिन्हें उपचार के लिये जयपुर भिजवाया गया है। उन्होंने कहा कि जिन क्षेत्रों में कोरोना वायरस संक्रमित रोगी मिले है वहां कफ्र्यू लगाकर सीमाएं सील कर दी गई है। कफ्र्यू में किसी भी प्रकार की ढील नहीं दी जायेगी क्योंकि बिना लक्षण वाले संक्रमित व्यक्तियों के आवागमन से संक्रमण फैलने की आशंका है।
 जिला कलक्टर ने कहा कि स्क्रीनिंग एवं स्वास्थ्य परीक्षण कर रही टीमों के सदस्यों के साथ अभद्र व्यवहार करने वालों के खिलाफ कठोरतम कार्यवाही की जायेगी।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के आदेशानुसार नगरीय क्षेत्रों एवं मण्डियों में मास्क पहनने की अनिवार्यता कर दी गई है। सोशल डिस्टंेसिंग सहित कुछ शर्ताें के साथ जिले के ईंट-भट्टों के संचालन की अनुमति भी दी गई है। उन्होंने जिलेवासियों से पुनः अपील की है कि अकारण ही घरों से बाहर न निकलें इससे संक्रमण का खतरा बढ़ता है।

1767 जरूरतमंद लोगों को अनुग्रह सहायता मिली


भरतपुर, 10 अपे्रल। जिले में कोरोना वायरस संक्रमण महामारी से राष्ट्रीय लाॅकडाउन होने के कारण गरीब बेसहारा, निराश्रित, श्रमिक एवं दिहाडी मजूदरों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए राज्य सरकार द्वारा जिले में शुक्रवार तक चयनित 7 हजार 726 लोगों में से 1767 लोगों के बचत खातों में 17 लाख 67 हजार रूपये की राशि का भुगतान किया गया है।

संभागीय संयुक्त श्रम आयुक्त ओपी सहारण ने बताया कि शुक्रवार तक जिले के शहरी क्षेत्र के 752 लोगों को 7 लाख 52 हजार रूपये का भुगतान किया गया जिनमें नगरपालिका वैर के 452 लोगों को, कामां के 67 लोगों को, नदबई 95 लोगों को, नगर के 60 लोगों को, तथा कुम्हेर के 91 लोगों को एवं ग्रामीण क्षेत्रों में 1015 लोगों को 10 लाख 15 हजार रूपये का भुगतान किया गया हैं। जिनमें बयाना क्षेत्र में 195 लोगों को , डीग क्षेत्र में 220 लोगों को, कुम्हेर में 175 लोगों को, नगर में 148 लोगों को, पहाडी  में 100 लोगों को, वैर में 174 लोगों को तथा नदबई क्षेत्र में 2 लोगों को 1-1 हजार रूपये की राशि उनके बचत खातों में जमा करा दी गई है। उन्होंने बताया कि बंद औद्योगिक संस्थानों के श्रमिकों को बिना कटौती समय पर वेतन नहीं मिलने का कोई प्रकरण नहीं आया है।

कोरोना वायरस संक्रमण व बचाव सार्वजनिक स्थलों पर मास्क का उपयोग करें

भरतपुर, 10 अप्रेल। जिला कलक्टर नथमल डिडेल ने बताया कि राज्य सरकार के निर्देशानुसार जिले के सभी नगरीय क्षेत्रों में सार्वजनिक स्थलों पर तथा कृषि मंडियों में मास्क का उपयोग करना होगा।  

उन्होंने बताया कि व्यापक जनहित को देखते हुए आपदा प्रबंधन अधिनियम की धारा 22 के अंतर्गत राज्य सरकार ने आदेश दिया है कि सभी व्यक्तियों को, चाहे वे किसी भी उद्देश्य कारण अथवा प्राधिकार से किसी भी सार्वजनिक स्थल यथा सड़क, गली, अस्पताल, बाजार आदि में जा रहे हों, थ्री लेयर वाले स्टैंडर्ड मास्क अथवा कपड़े से बना मास्क लगाना अनिवार्य होगा। निजी अथवा राजकीय वाहन में यात्रा कर रहे व्यक्तियों को भी मास्क लगाना अनिवार्य होगा। किसी भी साइट, कार्यालय अथवा कार्यस्थल पर कार्यरत व्यक्तियों को भी मास्क लगाना जरूरी होगा।

आदेश के अनुसार केमिस्ट की दुकान पर उपलब्ध स्टैंडर्ड मास्क के अलावा घर में बने कपड़े के मास्क भी उपयोग किए जा सकेंगे। कपड़े से बने इन मास्क को उपयोग के बाद विसंक्रमित करना और अच्छी तरह धोना जरूरी होगा। कार्य स्थलों पर नियोक्ता को यह सुनिश्चित करना होगा कि उसके सभी कर्मचारी थ्री लेयर मास्क का उपयोग करें। इन आदेशों का उल्लंघन आईपीसी की धारा 188 के तहत दंडनीय होगा।

भरतपुर विधानसभा क्षेत्र में दो उपस्वास्थ्य केन्द्र स्वीकृत

भरतपुर, 10 अप्रेल। तकनीकी एवं संस्कृत शिक्षा राज्य मंत्री डाॅ. सुभाष गर्ग ने बताया कि भरतपुर विधानसभा क्षेत्र के रामपुरा एवं मडरपुर गांव में नये उपस्वास्थ्य केन्द्र खोलने की स्वीकृति जारी की गयी है। जल्द ही इनमें महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं की नियुक्ति की जायेगी। उन्होंने बताया कि इन केन्द्रों के खुलने से क्षेत्र के लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाऐं उपलब्ध हो सकेंगी।

एक और कोविड-19 पॉजिटिव रोगी मिला, कसाईपाड़ा का निवासी

भरतपुर, 10 अप्रेल। सीएमएचओ डॉ कप्तान सिंह ने बताया कि शुक्रवार प्रातः मिली रिपोर्टों में एक और कोरोना पॉजिटिव रोगी मिलने की पुष्टि हुई है। 45 वर्षीय यह रोगी कसाईपाड़ा बयाना का निवासी है।

इसे 8 अपे्रल को जिला आरबीएम अस्पताल में लाकर स्क्रीनिंग के उपरान्त इसका सैम्पल जांच के लिए एसएमएस अस्पताल जयपुर भिजवाया गया था। इस मरीज को राजकीय इंजीनियरिंग काॅलेज स्थित क्वारेंटाईन में रखा गया था जहां से इसे जयपुर रैफर कर दिया गया है। उक्त मरीज द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार वह कस्बे के बाहर अन्यत्र कहीं नहीं गया था।

नगर निगम को स्वीकृत 3 करोड़ में से 45 लाख रूपये राशन किट के लिए हस्तानांतरित

भरतपुर, 10 अप्रेल। जिला कलक्टर नथमल डिडेल ने रूडसिको से नगर निगम को स्वीकृत 3 करोड़ रूपये की ऋण राशि में से 45 लाख रूपये कोविड-19 राहत के लिए नगर विकास न्यास के खाते में हस्तानान्तरित करने के निर्देश दिये हैं।

इस राशि का उपयोग मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिला परिषद द्वारा राजस्थान राज्य सहकारी उपभोक्ता संघ लि. से काॅम्बो पैक राशन किट प्राप्त करने के लिए किया जायेगा ताकि निराश्रित, असहाय और जरूरतमंदों को वितरण के लिए पर्याप्त मात्रा में खाद्य सामग्री उपलब्ध रहे। सीईओ जिला परिषद एवं जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक इन राशन किटों का वितरण सुनिश्चित करेंगे।

ईंट-भट्टों के संचालन को सशर्त मिली छूट

भरतपुर, 10 अप्रेल। जिला कलक्टर नथमल डिडेल ने आदेश जारी कर कहा है कि कोविड-19 संक्रमण से बचाव एवं फैलने से रोकने के लिए राष्ट्रीय स्तर पर किये गये लाॅकडाउन के कारण जिले में संचालित ईंट-भट्टों के संचालन को सशर्त छूट प्रदान कर दी गयी है।

आदेशों के तहत जिले में संचालित ईंट-भट्टों के मालिकों द्वारा कोविड-19 के सम्बंध में केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा जारी एडवाईजरी की पालना करने, श्रमिकों को अनिवार्य रूप से ईंट-भट्टा क्षेत्र के भीतर रहने, बाहरी लोगों से सम्पर्क न रखने, कार्य संचालन की अवधि में सोशल डिस्टेंस एवं कम सम्पर्क के सिद्धांत की पालना करने, श्रमिकों की खाद्य सामग्री सहित दैनिक वस्तुओं की व्यवस्था ईंट-भट्टों के मालिकों द्वारा अपने स्तर पर की जायेगी।

श्रमिकों एवं कार्मिकों की चिकित्सा जांच आवश्यक रूप से कराये जाने, ईंट-भट्टा मालिक द्वारा नये श्रमिकों को काम पर रखने से पूर्व उसकी स्वास्थ्य जांच करायेंगे तथा सूचना सम्बंधित उपखण्ड अधिकारी, थानाधिकारी एवं ब्लाॅक मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को देना सुनिश्चित करेंगे। सम्बंधित क्षेत्र के उपखण्ड अधिकारी, तहसीलदार, थानाधिकारी ईंट-भट्टों का नियमित प्रभावी माॅनिटरिंग कर शर्तों की पालना का उल्लघंन किये जाने पर ईंट-भट्टे को बंद कराये जाने की कार्रवाई सुनिश्चित करेंगे।

खाद्य सुरक्षा गेहूं का दुरूपयोग किये जाने के कारण मालीकी के एफपीएस डीलर का प्राधिकार पत्र निलम्बित

भरतपुर, 10 अप्रेल। तहसील पहाडी की ग्राम पंचायत मालीकी 1/2 भाग के उचित मूल्य दुकानदार रमन द्वारा अन्य जिलों के एवियेशन राशन कार्डों पर ट्रांजेक्शन कर खाद्य सुरक्षा गेहूं का दुरूपयोग किये जाने के कारण इनका प्राधिकार पत्र आगामी आदेशों तक निलम्बित कर दिया गया है।

जिला रसद अधिकारी (ग्रामीण) बीएल मीणा ने बताया कि ग्राम पंचायत मालिकी के उचित मूल्य दुकानदार रमन द्वारा करौली, दौसा, जोधपुर के एवियेशन राशन कार्डों पर ट्रांजेक्शन का दुरूपयोग करने के कारण राजस्थान खाद्यान्न एवं आवश्यक पदार्थ (वितरण एवं विनियमन) आदेश 1976 के तहत जारी प्राधिकार पत्र की शर्त संख्या 5, 11 व 17सी का स्पष्ट उल्लघंन होने के कारण आगामी आदेशों तक के लिए निलम्बित कर दिया गया है। सार्वजनिक वितरण की वैकल्पिक व्यवस्था के लिए ग्राम पंचायत मालीकी 1/2 भाग के उचित मूल्य दुकानदार अशरफ को अधिकृत किया गया है।

तात्कालिक चिकित्सा उपकरणों एवं उपचार सामग्री के क्रय के लिए कमेटियों का गठन

भरतपुर, 10 अप्रेल। जिला कलक्टर नथमल डिडेल ने आदेश जारी कर कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम एवं उपचार के लिए विभिन्न उपकरणों एवं उपचार सामग्री के क्रय किये जाने की आवश्यकता को मद्देनजर रखते हुए उनके निर्देशन में आवश्यक सामग्री को तत्काल क्रय किये जाने के लिए विशेष टीम का गठन किया गया है।

आदेशों के तहत अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) नरेश कुमार मालव इस विशेष टीम के अध्यक्ष होंगे। कोषाधिकारी अवधेश कुमार सदस्य सचिव तथा जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी पुष्कर राज शर्मा, उपखण्ड अधिकारी भरतपुर संजय गोयल, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. कप्तान सिंह, प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डाॅ. नवदीप सैनी एवं जिला कलेक्ट्रेट के लेखाधिकारी राजेन्द्र गुप्ता को सदस्य नियुक्त किया गया है।

इस कमेटी द्वारा क्रय की गयी सामग्रियों के चिकित्सा मानकों एवं गुणवत्ता के परीक्षण के लिए चिकित्सकों के दल का भी गठन किया गया है जिसमें मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी अध्यक्ष, डाॅ. सुनील शर्मा एवं डाॅ. अश्विनी गुप्ता को सदस्य नियुक्त किया गया है। साथ ही मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय के सहायक लेखाधिकारी मनीष खण्डेलवाल तथा जिला कलेक्ट्रेट के सहायता अनुभाग के लेखाकार केके शर्मा सामग्री के क्रय प्रक्रिया को पूर्ण कराने में इन कमेटियों का सहयोग करेंगे।