कोरोना वायरस: महामारी के विरूद्ध चल रहे जिला प्रशासन के प्रयासों को सफल बनाने भामाशाह स्वेच्छा से आ रहे आगे

Last Updated on by Sntv24samachar

कोरोना वायरस: महामारी के विरूद्ध चल रहे जिला प्रशासन के प्रयासों को सफल बनाने भामाशाह स्वेच्छा से आ रहे आगे

Corona virus: Bhamashah voluntarily coming forward to make the efforts of the district administration against the epidemic successful
Corona virus: Bhamashah voluntarily coming forward to make the efforts of the district administration against the epidemic successful

भरतपुर, 30 मार्च। कोरोना वायरस जनित महामारी के विरूद्ध चल रहे जिला प्रशासन के प्रयासों को सफल बनाने हेतु जिले के भामाशाह स्वेच्छा से आगे आ रहे है।
जिला कलक्टर नथमल डिडेल ने बताया कि सोमवार को पे्रमसिंह आर्य सेवानिवृत प्रधानाचार्य द्वारा 10 हजार रूपये, एनपी सिंह सेवानिवृत महाप्रबंधक बीएसएनएल द्वारा 11 हजार रूपये, योगेन्द्र कुमार मिश्रा पीईईओ उडकीदल्ला नगर एवं स्टाफ द्वारा 41 हजार रूपये, कृष्ण गोपाल गुप्ता प्रधानाचार्य सादपुरी नगर एवं समस्त स्टाफ द्वारा 21 हजार रूपये, सृजन संस्थान भरतपुर की ओर से रतनलाल शर्मा एवं भगवानदास शर्मा द्वारा 1 लाख रूपये, अनुजय नगर विकास समिति की ओर से विष्णु दत्त द्वारा 11 हजार रूपये, तथा शिक्षा विभाग के अन्य कार्मिकों द्वारा 70 हजार रूपये की राशि कोरोना रिलीफ फंड में जमा करायी। उन्होंने बताया कि भामाशाहों द्वारा डहरा मोड से यूपी बाॅर्डर तक लगभग 2 हजार 500 गर्म भोजन के पैकेट एवं पेयजल बाहर से आने वाले कोरोना प्रभावित व्यक्तियों को वितरित किये गये।

कोरोना रिलीफ फंड में श्रीमती कुसुम ठाकुर पत्नी पूरन सिंह ठाकुर द्वारा 50 हजार रूपये का चैक जिला कलक्टर को भेंट किया।
एडीपीसी समसा अशोक धाकरे, एडीईओ श्याम सिंह एवं प्रधानाचार्य दिनेश सिंह ने जयपुर हाई-वे पर भोजन एवं पानी पाउच वितरित किये। भोजन सामग्री की किटों का वितरण गरीबों में किया गया।

केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान के निदेशक मोहित गुप्ता ने बताया कि घना पक्षी विहार के नजदीकी गांवों के विधावाओं, दिव्यांगों और भूमिहीन 200 परिवारों को राशन सामग्री का वितरण सोमवार को वन विभाग की ओर से किया गया। उन्होंने कहा कि इससे वन क्षेत्र के समीपवर्ती इन परिवारों को लाॅकडाउन के दौरान जीवनयापन में मदद मिलेगी।