Rajasthan news: मुख्यमंत्री से मिला सुमेरपुर (पाली) से आया प्रतिनिधिमंडल,माही बजाज से सेई-जवाई लिंक परियोजना पूरी करने की रखी मांग

Rajasthan news: मुख्यमंत्री से मिला सुमेरपुर (पाली) से आया प्रतिनिधिमंडल,माही बजाज से सेई-जवाई लिंक परियोजना पूरी करने की रखी मांग

Last Updated on by Sntv24samachar

Rajasthan news: मुख्यमंत्री से मिला सुमेरपुर (पाली) से आया प्रतिनिधिमंडल,माही बजाज से सेई-जवाई लिंक परियोजना पूरी करने की रखी मांग

Rajasthan news: मुख्यमंत्री से मिला सुमेरपुर (पाली) से आया प्रतिनिधिमंडल,माही बजाज से सेई-जवाई लिंक परियोजना पूरी करने की रखी मांग
Rajasthan news: मुख्यमंत्री से मिला सुमेरपुर (पाली) से आया प्रतिनिधिमंडल,माही बजाज से सेई-जवाई लिंक परियोजना पूरी करने की रखी मांग

Rajasthan news:जयपुर, 12 मार्च। मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत से गुरूवार को मुख्यमंत्री निवास पर सुमेरपुर (पाली) से आए प्रतिनिधिमंडल ने मुलाकात की और माही बजाज से सेई-जवाई लिंक परियोजना को पूरा करने की मांग रखी। 


प्रतिनिधिमण्डल में आए पाली के पूर्व सांसद श्री बद्रीराम जाखड़ एवं पाली नगर परिषद के पूर्व सभापति श्री केवलचंद गुलेछा ने कहा कि पूर्ववर्ती गहलोत सरकार के समय माही बांध का पानी सेई बांध में लाने और वहां से पाली के जवाई बांध में लाने के लिए सर्वे करवाने की घोषणा की गई थी और इसकी डीपीआर भी बन गई थी।

उन्होंने कहा कि जवाई बांध में पानी की आवक से सुमेरपुर और पाली ही नहीं जालोर जिले के किसानों को भी फायदा मिलेगा और क्षेत्र की विकट पेयजल समस्या का समाधान हो सकेगा। प्रतिनिधिमंडल ने माही बजाज से सेई-जवाई लिंक परियोजना से जुड़ी मुख्यमंत्री की पूर्व की बजट घोषणा के तहत सर्वे करवाने के लिए मुख्यमंत्री का धन्यवाद दिया और परियोजना को पूरी कर पाली व जालोर जिले को पानी की समस्या से निजात दिलाने का आग्रह किया। 

Rajasthan news:मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार का यह प्रयास है कि पाली एवं जालोर जिले की पानी की समस्या का स्थायी समाधान हो। उन्होंने पाली में एनजीटी के निर्देशों के बाद फैक्टि्रयां बन्द होने के मामले में कहा कि प्रदूषण पूरे देश की समस्या है और राज्य सरकार का प्रयास रहेगा कि एनजीटी के निर्देशों  का पालन सुनिश्चित हो, साथ में उद्यमियों को परेशानी नहीं हो एवं पाली में पर्यावरण प्रदूषण की समस्या का भी स्थायी समाधान निकल सके।

उन्होंने कहा कि दिल्ली-मुम्बई फ्रेट कोरिडोर में एक औद्योगिक क्षेत्र पाली के रोहट में भी विकसित होगा, जिसका फायदा पाली को भी मिलेगा। हमारा मकसद पाली जिले का विकास करना है। उन्होंने कहा कि क्षेत्र के विकास में किसी तरह की कमी नहीं रखी जाएगी।